Tuesday, August 16, 2016

अभी नहीं।

स्वीकार कर लिया क्या?
नहीं। 
फिर? इतने धीमे पड़ चुके हो,
नहीं तो। 
हाँ रुक से गए हो। 
कुछ कमज़ोर से दिख रहे हो। 
नहीं। 
और क्या, सवाल नहीं करते,अब सिर्फ जवाब देते हो। 
बिलकुल नहीं। 
अब पूंछते नहीं हो कि वक़्त कितना बचा है?
हाँ थोड़ा busy हूँ। 
किसमे?
दुनिया में। 
वो क्या है?
जिसने घेरा है। 
वो तो समस्याएं हैं?
नहीं, चुनौतियां। 
किसने दीं ?
दुनिया ने। 
और जो तुम्हारे थे सपने, उनका?
पूरे होंगे, अभी थोड़ा busy हूँ. 
स्वीकार कर लिया न?

नहीं। अभी नहीं। 



No comments:

Post a Comment