Tuesday, November 15, 2016

अब ख़ुशी दिखती नहीं है,
और मायूसी को ignore करने लगा हूँ मैं ,
जितना देखता हूँ, अपने हर तरफ़ 
नज़र उतनी कमज़ोर हो रही है,

शायद,

उम्र चढ़ रही है मेरी आंख के पीछे,
परत दर परत। 

No comments:

Post a Comment