Thursday, July 6, 2017

आज क्या हिलाया?

जानवर हो य इन्सान,
आख़िर में,
सब हिला ही रहे हैं.... 



.... कुछ न कुछ। 




-प्रणव मिश्र 


No comments:

Post a Comment