Thursday, July 13, 2017

वज़न ही तो है।

न जाने ... किस हक़ से,
                लोग मुँह उठा कर,
                मुँह पर comment कर देते हैं, ... 
                weight को लेकर,
"बहुत कमज़ोर लग रहे हो?".. 
               जी में आता है, उसी वक़्त,
                pant में हाथ डालकर अपनी, पकड़ लूँ अपना, 
                और निकाल लूँ , और उठा दूँ,,... 
                अपनी t -shirt का कोना,
                 और दिखा दूँ,.. बारीक़ कटे abs . 
                 पर क्या करूँ,
                 थोड़ा polite nature का हूँ,
                 तो सिर्फ़ ये कह कर आगे बढ़ जाता हूँ.. कि,
                 "I wish, I could say the same to you."
                और कई मौकों पर तो सिर्फ़ मुस्कुरा देता हूँ,
                फिर सोचता हूँ,.. 
                कि ये वज़न तुम्हारा जितना भी है,
                maintain रखो, इसकी ज़रुरत है तुम्हे,
                क्यूँ कि बस यही तो है,
जो तुम्हारी हलकी बातों को balance में रख़ता है। 




-प्रणव मिश्र 




No comments:

Post a Comment